Saturday, July 26, 2014

आइये जानें कि सम्भोग के दौरान क्यों होता है महिलाओं के दर्द !

भारतीय समाज में लडकी की परवरिश ऎसे माहौल में होती है
कि उसके मन में संभोग को लेकर डर बैठा होता है। पहली बार के संभोग से कई तरह के मिथ जुडे हुए हैं।

लोगों का ऎसा मनोविज्ञान है कि पहले संभोग के समय में
लडकियों को काफी दर्द होता है। इस दौरान ब्लीडिंग को लेकर भी अनेक तरह की भ्रांतियां हमारे समाज में मौजूद हैं।
क्या सचमुच पहला संभोग कष्टदायक होता है?

संभोग करने की स्थिति से भी दर्द का कुछ नाता है। ऎसे कुछ
भ्रम लोगों के मन में अक्सर रहते हैं। कैसे आप इस दर्द से निजात पाकर सेक्स संबंधों का आनंद ले सकते हैं और अपने
रिश्तों को सामान्य बना सकते हैं।

आइए जानें क्यों होता है संभोग के दौरान दर्द?
इससे जुडी बातें सच हं या ये सिर्फ एक मिथ है?
इस दर्द को मेडिकल टर्म में क्या कहते हैं?


 संभोग के दौरान होने वाले दर्द को मेडिकल की भाषा में दाईस्पेरेनिया कहते हैं। यह ऎसा दर्द है जो एक बार होने पर बार-बार हो सकता है और इस दर्द का असर महिला-पुरूषों के रिश्ते पर बहुत बुरा पडता है।

क्यों होता है दर्द :-  वास्तव में पहली बार संभोग के समय
महिलाओं को होने वाले दर्द का मुख्य कारण योनि का बहुत
ज्यादा टाइट होना है। ऎसा तब होता है जब योनि की मांसपेशियां खिंच जाती हैं और उनमें सूजन आ जाती है।
ऎसी स्थिति में संभोग के समय महिला को बहुत अधिक दर्द
होता है।
 ऎसा उन स्त्रिओं के साथ होने की संभावना रहती है जो सेक्स संबंधों को बहुत बुरा मानती हैं और संभोग के समय पुरूष
के साथ सहयोग नहीं करती। इसका मनोवैज्ञानिक असर ये
होता है कि संभोग के समय योनि की मांसपेशिया सिकुड जाती हैं और तेज दर्द होता है।


योनि में इन्फेक्शन :- योनि में किसी भी तरह का इंफेक्शन भी संभोग के समय दर्द का एक बहुत बडा कारण है। अक्सर योनि के आकार में परिवर्तन हो जाता है जिसे एंड्रियोमेट्रियोसिस कहते हैं। यदि आपको भी संभोग के दौरान दर्द होता है तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

मनोवैज्ञानिक कारण:- संभोग के दौरान होने वाले दर्द का एक मनोवैज्ञानिक कारण भी है। लडकियों की परवरिश बचपन से ही इस तरह से की जाती है कि सेक्स को लेकर उनके मन में डर बैठ जाता है। वह सेक्स के नाम से ही घबराने लगती हैं और उन्हें अपनी किशोरावस्था और युवावस्था के दौरान यह भी सुनने को मिलता है कि पहली बार किया गया संभोग बहुत कष्टदायक होता है और इस दौरान खूब ब्लीडिंग भी होती है। लंबे समय तक यह भी माना जाता रहा है कि यदि पहली बार संभोग के दौरान ब्लीडिंग न हो तो लडकी पहले सेक्स कर चुकी है। ये तमाम बातें लडकी के मन में मनोवैज्ञानिक रूप से संभोग के प्रति डर पैदा कर देती है और इस तरह की लडकियों को पहली बार संभोग के दौरान अक्सर
दर्द की शिकायत होती है।

सुझाव:- दर्द न हो इसके लिए क्या करना चाहिए यदि आप चाहते हैं
कि आपको संभोग के दौरान दर्द ना हो तो आपको कुछ सेक्स
पोजीशंस का इस्तेमाल पहली बार संभोग के दौरान करना चाहिए और आपको अपने मन से संभोग में होने वाले दर्द व अन्य मिथों को दूर कर देना चाहिए। इन सबके बावजूद भी आपको संभोग के दौरान दर्द से गुजरना पड रहा है तो आप
डॉक्टर ही सलाह लें।
.
Read more: http://www.gyandarpan.com/2009/10/blog-post_16.html#ixzz2rQg0iiql

No comments:

Post a Comment